वसीम रिज़वी ने मदरसों को लेकर दिया बेहद घटिया बयान, फिर मोदी को लिखा ये खत: देखें विडियो

उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर देशभर के मदरसे बंद करने की बात कही है। रिजवी ने कहा कि मदरसों में छा!त्रों को निशा!ना बनाते हुए आंतकी संगठन आ!ईएस!आईएस की विचारधारा को फैला!या! जा रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता है तो देशभर के आधे से ज्यादा मुसलमान आ!ईएसआईएस की विचा!रधारा के समर्थक हो जाएंगे। पीएम को लिखे खत में रिजवी ने कहा है, ‘पूरी दुनिया में देखा गया है कि कोई भी मिशन चलाने के लिए बच्चों को निशा!ना बनाया जाता है और इस वक्त आ!ईएसआ!ईएस एक खतरना!क आ!तंकी सं`गठन है, जो धीरे-धीरे पूरी दुनिया में मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों में पकड़ बना रहा है।’

खत में कहा गया है, ‘कश्मीर में बड़ी तादाद में आ!ईएस!आईएस के समर्थक खुले तौर पर दिखाई दे रहे हैं। बड़े पैमाने पर मदरसों में इस्ला!मिक तालीम लेने वाले बच्चों को आ!र्थिक मदद पहुंचा कर इस्लामिक शिक्षा के नाम पर उन्हें दूसरे धर्मों से का!टा जा रहा है और सामान्य शिक्षा से दूर किया जा रहा है।’

साथ ही उन्होंने कहा है, ‘हिन्दुस्तान में ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे प्राथमिक मदरसे चंदे की ला!लच में हमारे बच्चों का भविष्य खरा!ब करने पर तुले हुए हैं। उनको सामान्य शिक्षा से दूर रखकर इस्लाम के नाम पर कट्ट!रपं!थी सो!च पैदा की जा रही है। यह मुसलमान बच्चों के लिए घा!तक है और साथ ही साथ देश के लिए भी एक बड़ा खत!रा है।’

इसके अलावा रिजवी ने लिखा है, ‘इन सभी परिस्थितियों को देखते हुए देश हित और मुस्लिम बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए हिन्दुस्तान में चल रहे प्राथमिक मदरसों को बं`द किया जाना चाहिए। हा!ईस्कूल पास करने के बाद अगर बच्चा खुद ध`र्म प्रचा!र की तरफ जाना चाहता है तो वह मद`रसे में दाखिल ले सकता है। मदरसों में प्रवेश हाई स्कूल करने के बाद किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।’