शिवसेना ने मुस्लिमो के पक्ष में किया ये बड़ा ऐलान, इस सरकार को लगायी फटकार

मराठा आरक्षण की मांग के बीच महाराष्ट्र में मुस्लिमों के लिए शैक्षणिक संस्थानों में उठ रही 5% आरक्षण की मांग को शिवसेना ने सही करार दिया है। साथ ही मुस्लिमों को आरक्षण देने की भी वकालत की है। पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शिक्षा में मुसलमानों को आरक्षण देने का समर्थन किया है।

उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘मराठा के अलावा धांगड़, मुस्लिम और अन्‍य समुदायों के आरक्षण की मांग पर भी गौर करना चाहिए। हमारी पार्टी इस मसले पर केंद्र सरकार का पूरा समर्थन करेगी।’ मुस्लिमों को आरक्षण देने के मुद्दे पर उद्धव ने कहा कि यदि उनकी मांग तर्कपूर्ण और जायज है तो उस पर विचार किया जाना चाहिए।

AIMIM के विधायक इम्तियाज जलील ने शिवसेना के रुख का स्‍वागत किया है। उन्‍होंने बीजेपी को इससे सीख लेने की भी नसीहत दे डाली। उन्‍होंने कहा, ‘यह एक सकारात्‍मक पहल है। बीजेपी को इससे सीख लेनी चाहिए। बीजेपी के कुछ नेता अपने बयानों और कृत्‍यों से लगातार मुसलमानों को निशाना बनाते रहते हैं।’

उन्‍होंने बताया कि बांबे हाई कोर्ट ने भी मुस्लिम समुदाय को 5 फीसद आरक्षण देने का समर्थन किया है। जलील ने कहा, ‘हाई कोर्ट ने मराठा समुदाय को ओबीसी श्रेणी में शामिल करने की मांग को खारिज करते हुए मुसलमानों को 5 फीसद आरक्षण देने की अनुमति दी थी।

उन्होने कहा, मराठा समुदाय के मामले में कोर्ट ने पिछड़ा श्रेणी आयोग गठित करने को कहा था। मुसलमानों के मामले में कोर्ट ने परिस्थितिजन्‍य साक्ष्‍य के आधार पर शिक्षा में आरक्षण देने की बात कही थी। यह बड़े ही अफसोस की बात है कि राज्‍य सरकार ने अभी तक कोर्ट के दिशा-निर्देशों को लागू नहीं किया है।’