PDP पार्टी ने सियासत को किया फिर गरम, 35A को लेकर किया ये बड़ा दावा

पीडीपी के एक वरिष्ठ नेता ने आज दावा किया कि जम्मू में अधिकतर लोग संविधान के अनुच्छेद 35ए को समाप्त करने के खिलाफ हैं जो जम्मू कश्मीर की जनता को विशेषाधिकार प्रदान करती है।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के अतिरिक्त प्रवक्ता अभिजीत जसरोटिया ने कहा, ’’जानबूझकर यह गलत धारणा फैलाई जा रही है कि जम्मू की जनता अनुच्छेद 35 ए को समाप्त करने के पक्ष में है।’’  उन्होंने कहा, ’’कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के लोगों की तरह लगभग सभी डोगरा संवैधानिक प्रावधान के लागू रहने के पक्षधर हैं।’’

जसरोटिया ने कहा कि जम्मू क्षेत्र के निवासी खासकर डोगरा इस बात को अच्छी तरह समझते हैं कि अनुच्छेद समाप्त करने से उनकी अगली पीढ़ी के लिए संकट पैदा हो जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘मैं खुद डोगरा हूं और हम संवैधानिक प्रावधान हटाने से उत्पन्न होने वाली चुनौतियों से भलीभांति वाकिफ हैं। हम एक छोटे से समूह की मांग पर इस प्रावधान को हटाने नहीं देंगे।’’

उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों और डोगरा समुदाय की सिफारिश पर महाराजा हरि सिंह ने कानून लागू किया था। जसरोटिया ने कहा, ‘‘हम महाराजा का सम्मान करते हैं और उन्हें बहुत आदर देते हैं। वह इस कानून को लेकर आये थे जो हमारे लिए लाभ वाला है।’’

अनुच्छेद 35 ए के साथ छेड़छाड़ से संविधान का मूल ढांचा कमजोर होगा : महबूबा

इससे पहले पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने सोमवार (6 अगस्त) को कहा था कि उच्चतम न्यायालय में अनुच्छेद 35 ए की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली अर्जी पर सुनवाई टलने से राज्य के नागरिकों को बस एक अंतरिम राहत मिली है। उन्होंने कहा कि इस संवैधानिक प्रावधान की गरिमा अक्षुण्ण बनाई रखी जानी चाहिए क्योंकि इस पर विभिन्न राजनीतिक दलों के बीच सहमति है।

उन्होंने अपने ट्वीटों के माध्यम से कहा,‘अनुच्छेद 35 पर सुनवाई टलना कोई हल नहीं है बल्कि यह जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए अंतरिम राहत लेकर आया है। उसके दर्जे को लेकर अनिश्चितता के बादल मंडराने से लोगों के मन में चिंता और घबराहट फैल गई है।’  महबूबा ने कहा कि भारत का संविधान सर्वोच्च कानून है और उसने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान किया है। उन्होंने कहा, ‘उसके साथ छेड़छाड़ की कोई भी कोशिश उसके मूल ढांचे के साथ उल्लंघन करने जैसा होगा।’

Ground 0 35A

क्या है आर्टिकल 35-A और क्या है विवाद …क्यूं सभी सियासी जमाअतें बाकायदा माहौल बनाकर इसपर सियासत ही करती दिख रही हैं….जानने के लिए देखिए ये रिपोर्ट#ZeeSalaam#ZeeVideo

Posted by Zee Salaam on Tuesday, August 7, 2018