मुस्लिमों की इस मांग पर हिली BJP सरकार, भाजपा पर बरपाया कहर

मुंबई। महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण आन्दोलन ठंडा नहीं हुआ। वहीं मुसलमानों ने भी पांच प्रतिशत सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र सरकार का सिरदर्द बढा दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मुसलमानों ने भी मराठा क्रांति मोर्चा को ध्यान में रखकर एक मुस्लिम क्रांति मोर्चा गठन कर लिया है। साथ ही राज्य सरकार से मांग की है कि उन्हें सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण दिया जाए।

समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र अध्यक्ष अबू आसिम आजमी के नेतृत्व में मुस्लिमानों के एक समूह ने मुस्लिम क्रांति मोर्चा का गठन कर लिया । इस मोर्चे के माध्यम बनाकर अपनी आवाज बुलंद करते हुए आरक्षण के लिए महाराष्ट्र सरकार पर दबाव बनाने का प्रयास करेंगे।

आजमी ने बताया है कि यह एक व्यापक आंदोलन साबित होगा इसमें सारी राजनीतिक पार्टियों का समर्थन हासिल होगा। हमें लग गया है कि मराठा क्रांति मोर्चा मराठों के लिए आरक्षण प्राप्त करने में सफल हो गया है। अब हम भी पिछड़ गए मुसलमानों के लिए आरक्षण की लड़ाई प्रारंभ करेंगे।

उन्होंने बताया कि बाम्बे हाईकोर्ट के शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण देने के बाद भी राज्य सरकार मुस्लिम आरक्षण पर चुपी साधे हुए है। मराठों को 16 फीसदी आरक्षण देने पर विचार कर कदम उठाने वाली है। गत दिनों कांग्रेस विधायक अमीन पटेल ने कहा था कि मराठा, धनगर समाज, मुस्लिमों के लिए भी आरक्षण की मांग करते हैं। मुस्लिम पिछड़े हुए हैं ।