दिलवालों के दिल्ली में मौलाना के साथ हुआ इंसानियत को शर्मसार करने वाला हादसा

नई दिल्ली: देश कई राज्यों में फ़ैल रहा भगवा जहर दिल्ली वालों पर भी असर करता दिखाई दे रहा है, जिसकी वजह से रास्ता चले लोगों सताए जाने की बातें सामने आ रही हैं। ताज़ा मामला पिछले रविवार की रात 10 बजे का है, जिसमें बवाना जेजे कालोनी बी ब्लाक की मस्जिद अबू बकर सिद्दीक इमाम मौलाना मोहम्मद आफताब को घर लौटते समय डीटीसी बस में मौजूद कुछ लोगों ने न सिर्फ मारपीट की बल्कि उनकी दाढ़ी पकड़ कर खींचते हुए विवादित नारा लगवाने पर मजबूर भी किया।

उक्त मामला ऐसे समय का है जब बस में भी काफी सवारियां मौजूद थीं, एक शख्स के अलावा किसी और ने भी इस बात का विरोध नहीं किया। सूचना के अनुसार बवाना क्षेत्र की जेजे कॉलोनी बी ब्लॉक में स्थित मस्जिद अबू बकर के इमाम मौलाना आफताब शाहाबाद डेयरी से रविवार की रात को लगभग 10 डीटीसी की रूट नंबर 116 में बैठे हुए अपने घर जा रहे थे कि अचानक प्रहलादपूर गाँव से पहले दो लोग उनके पास आए और उनसे बदतमीजी करने के साथ मारपीट करने लगे जिसमें दाढ़ी नोचना और मुंह पर तमांचा मारना भी शामिल है।

बताया जाता है कि उन लोगों गालियाँ देते हुए विवादित नारा लगाने के लिए कहा कि जिसपर मौलाना आफताब ने मना किया। इस बात को सुनकर उन लोगों ने और भी ज्यादा उग्र होते हुए उन पर हमला कर दिया। उधर बस में किसी के न बोलने पर मौलाना अधिक घबरा गये। हलांकि एक शख्स ने बीच में बोलने की कोशिश भी की जिसपर उन दोनों लोगों ने उसे धमका कर बिठा दिया।

मौलाना आफताब ने मीडिया से कहा कि उन्होंने डर जाने के कारण मजबूरन नारा लागाये और जैसा उन लोगों ने कहा वैसा ही कह दिया। उसके बाद यह लोग प्रहलादपूर बस स्टैंड पर उतर गए और उनके उतरते ही मौलाना ने 100 नंबर पर काल की मगर काफी इंतज़ार का बाद कोई नहीं आया वहीं बस वाले भी उनके साथ बवाना चौक पर खड़े रहे। अपने एक जानने वाले डॉक्टर एहतशाम अनवर को फोन किया जिन्होंने आला पुलिस अधिकारी से बात की और फिर कहीं जाकर पुलिस पहुंची और मौलाना का बयान दर्ज किया।