जानिए क्यों इस हिंदू बहन ने कहा, ‘इस्लाम ने ही दिया है बेटियों को ऊँचा मक़ाम’

सोशल मिडिया पर वायरल यह वीडियो जिसमे एक गैर संप्रदाय की महिला द्वारा इस्लाम की शिक्षाओं को बताया गया जिसमे उन्होंने कहा की इस्लाम ही एक ऐसा मजहब है जिसमे महिलाओं को उनके अधिकार प्रदान किये है,

उन्होंने अपनी स्पीच में कहाँ की इस्लाम ने बेटियों को ऊँचा मक़ाम दिया है, और यह बात बी हकीकत भरी है, आज जिस तरह देश में बेटी बचाओ का नारा दिया जा रहा है, यह नारा सबसे पहले पैगम्बर ए इस्लाम हजरत मुहम्मद सल्ल्लालहो अलेह वसल्लम ने दिया है|

यह बात हकीकत है की आज से लगभग 1450 साल पहले का यह मंजर था जब लोग अपनी बेटियों को जमी में ज़िंदा दफन कर दिया करते थे, जब आप पैगम्बर साहब की दुनिया के अंदर नबूवत मिली और आप आखरी नवी बनकर लोगों के सामने आये तो आप ने सबसे पहले इस बुराई को ख़त्म किया |

मगर आज का दौर उस 1450 साल पहले के दौर से ख़राब हुआ है, जिसमे बेटियों को पैदा होने के बाद मार दिया जाता था , मगर आज इस दौर में बेटियों को इस दुनिया में आने से पहले ही मार दिया जाता है, आज समाज में फैली इस बुराई के खिलाफ आप को और हम को मिलकर मिटाना होगा इस बुराई के खिलाफ खड़े होना होगा |