एक निकाह ऐसा भी जिसमे दुल्हन ने मेहर में मांगी ‘पाबंदी-ए-नमाज-ए-फज्र’

पाकिस्तान के मशहूर सीरियल मन के मोती की अदाकारा यसरा रिज़वी ने 30 दिसंबर 2016 को ड्रामा प्रोडूसर अब्दुल हादी के साथ शादी की। यह शादी पाकिस्तान सहित दुनिया भर में काफी चर्चा का विषय बनी हुई हैं।

दरअसल 34 वर्षीय यसरा ने बेहद ही सादगी के साथ अपने से 10 साल छोटे हादी से निकाह किया। इनकी शादी की दूसरी सबसे ख़ास बात ये रही कि यसरा ने मेहर में अपने शोहर से कोई धन-दोलत न मांगकर पाबंदी के साथ फज्र की नमाज सहित पंच वक्ता नमाज मांगी। यसरा की इस ख्वाहिश को उनके शौहर हादी ने बड़ी ही ख़ुशी के साथ पूरा किया। हादी रोजाना अब वक्त की पाबंदी के साथ नमाज भी अदा कर रहे हैं।

यसरा ने इस बारें में बताया कि उनके पति हादी के पास हाल-फिलहाल कोई नोकरी नहीं हैं। अभी वह MBBS थीसिस ख़त्म कर रहे हैं। ऐसे में अपने शौहर से मेहर के तौर पर उन्हें कोई रकम मांगना गंवारा नहीं लगा। इसलिए उन्होंने मेहर में ‘पाबंदी-ए-नमाज-ए-फज्र’ की ख्वाहिश जाहिर की। जिसे उन्होंने ख़ुशी-ख़ुशी पूरा किया।

उन्होने आगे कहा, आज हमारा कोई भी काम ऐसा नहीं हैं जो हमारे मजहब की नुमाइंदगी करता हो। सिर्फ नमाज ही है जो हमे दुनिया के दुसरे लोगो से अलग करती हैं। यह अल्लाह की और से हमे इनाम हैं। जो सिर्फ मुसलमानों को अदा की गई हैं और हम इसे आलस और दुसरे गैर कामों में गवा देते हैं। उन्होंने कहा, नमाज से बेहतर कोई चीज मेरी हिफाजत नहीं कर सकती। मेहर भी हिफाजत के लिए ही होती हैं। ऐसे में मेने अपने शौहर से मेहर में “पाबंदी-ए-नमाज-ए-फज्र” की ख्वाहिश की।

देखे विडियो इस बारें में उन्होंने आगे और क्या कहा