इस भारतीय क्रिकेटर ने दिया था अफरीदी को ‘बूम बूम अफरीदी’ का निकनेम

पाकिस्तानी टीम में एक ऐसा दिग्गज क्रिकेटर हुआ है जिसने क्रिकेट की दुनिया तहलका मचा के रख दिया। पाकिस्तान के इस तूफानी बल्लेबाज को छक्के उड़ाने का तो शौक था ही साथ में गेंदबाजी का भी शौक था। जब भी ये प्लेयर विकेट लेता था तो इसकी आदत की ये जश्न मनाने के लिए अपने हाथ ऊपर कर देता था।

जी हां, इस पाकिस्तानी तूफान का नाम है शाहिद अफरीदी। शाहिद अफरीदी की बात आज हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकि हाल ही में उन्होंने एक बड़ा खुलासा किया है। शाहिद अफरीदी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद इस बात को जगजाहिर कर दिया है कि उनको बूम-बूम अफरीदी नाम किसने दिया था?

वैसे भी ‘बूम-बूम’ नाम सुनते ही शाहिद अफरीदी की याद आ जाती है। इसी तरह इस बात को जानकर भी आपको हैरानी होगी कि उनको ये नाम किसी पाकिस्तानी नहीं बल्कि भारतीय दिग्गज क्रिकेटर ने दिया था। अब तक शायद खुद अफरीदी और उनको बूम-बूम नाम देने वाले शख्स को पता होगा कि ये नाम किस ने दिया।

देर न करते हुए आपको बता देते हैं कि शाहिद अफरीदी को बूम-बूम नाम किसी और ने नहीं बल्कि भारत के पूर्व कप्तान और इस वक्त टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने दिया था। जी हां, अफरीदी ने खुद इस राज से पर्दा उठाया है और इसका जिक्र उन्होंने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर भी किया है।

ट्विटर पर फैन्स से जुड़े शाहिद अफरीदी से जब एक फैन ने पूछा कि उन्हें ‘बूम-बूम’ नाम किसने दिया? इसके जवाब में शाहिद अफरीदी ने सीधे-सीधे रवि शास्त्री का नाम लिया। बाद में शाहिद अफरीदी को ये नया नाम इस कदर पसंद आया कि उन्होंने अपने बल्ले से लेकर टी शर्ट तक पर ये नाम लिखवा लिया।

दरअसल, रवि शास्त्री उस वक्त कॉमेन्टेटर की भूमिका में थे। इसी दौरान शाहिद अफरीदी के लिए रवि शास्त्री के मुंह से बूम-बूम निकल गया। वैसे भी जिस तरह से रवि शास्त्री किसी खिलाड़ी का महिमा मंडन करते हैं तो ऐसे में स्वाभाविक है कि निश्चित रूप से उस मैच में भी शाहिद अफरीदी ने गेंदबाजों को जमकर उधेड़ा होगा।

Shahid Afridi ने आज ही के दिन जड़ी थी सबसे तेज Century, इस lege…

Shahid Afridi ने आज ही के दिन जड़ी थी सबसे तेज Century, इस legend Indian का था Bat गेंदबाजों की धुनाई के लिए मशहूर शाहिद अफरीदी के लिए 4 october का दिन खास है. फैंस के बीच 'बूम-बूम' नाम से मशहूर अफरीदी ने 21 साल पहले वनडे इतिहास का सबसे तेज शतक जमाया था, वो 37 भी गेंदों पर. इस रिकॉर्ड को तोड़ने में दुनियाभर के बल्लेबाजों को 18 साल लग गए.

Posted by News Express on Thursday, October 5, 2017