भारत को मिला एक और कलाम जिसने बनाया दुनिया का सबसे छोटा सैटेलाइट

जी हाँ दोस्तों ये सच है कि भारत को फिर से के नन्हा कलाम मिला है जिसने इस दुनिया का सबसे छोटा सैटेलाइट बना कर नासा को ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को हैरान कर दिया और हमारे भारत देश का नाम और ऊंचा कर दिया और अपने देश का गौरव भी बढ़ाया. हमारे देश में कई युवाओं में बहुत ही उम्दा टैलेंट भरा हुआ जिसका सबूत चेन्नई के 12 वीं कक्षा में पढाई कर रहे छात्र रिफत शाहरुख ने दिया. रिफत ने पूरी दुनिया का सबसे हल्का और सबसे छोटा सैटेलाइट बनाया है और इसी कारण वो पूरी मीडिया पर इस तरह छाया हुआ है जैसे कि हमारे देश के पूर्व scientist AP कलाम थे.

और इन छात्र की उम्र केवल 18 बर्ष है और इसने इतना बढ़ा कारनामा कर दिखाया जिसे आज पूरी दुनिया देख रही है. और इस छात्र के कारनामे ने एपीजे अब्दुल कलाम की यादो को ताज़ा कर दिया. और ये कारनामा इसकी टीम ने मिलकर बनाया और अपने 5 साथियो के साथ एक सैटेलाइटट बनाया है जो दुनिया की सबसे हलकी और छोटी है

इसको रिफत ने सैटेलाइट यूएस स्पेस एजेंसी नासा और आईडूडललर्निंग इंक (ग्लोबल एजुकेशन कंपनी) के सामूहिक तत्वाधान में आयोजित ‘क्यूब्स इन स्पेस’ कॉन्टेस्ट के दौरान बनाया. इसका नाम भी महान कलाम के नाम पर Kalam SAT रखा है. और इसका परिक्षण खुद NASA 21 जून को स्पेस में लॉन्च भी करेगी. और आपको बता दें कि सैटलाइट का वजन केवल 100 Gram है.