योगीराज में बदमा!शो के हौसले बुलंद, पुलिस की गाडी से युव!ती को किया अग!वा, देखे विडियो

मामला मुजफ्फरनगर का है जहां जिला अस्पताल में मेडिकल के लिए लाई गई प्रेमी संग फरार हुई युवती को उसके ही परिजनों ने अगवा कर लिया। युवती को बचाने की कोशिश में महिला पुलिसकर्मियों और प्रेमी के परिजनों पर हमला किया गया। कई थानों की फोर्स के साथ पुलिस ने घेराबंदी की तो हमलावर कार और युवती को शेरपुर के जंगल में  छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है।

मीरापुर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी की बेटी प्रेम प्रसंग के चलते एक युवक के साथ 13 अगस्त को घर से चली गई थी। युवती के पिता ने मीरापुर थाने में युवक और उसके परिजनों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उधर, प्रेमी युगल हाईकोर्ट पहुंचकर सुरक्षा दिलाने की गुहार लगाई। 28 अगस्त को हाईकोर्ट ने पुलिस को उनकी सुरक्षा के साथ ही युवती का उम्र संबंधी मेडिकल कराकर रिपोर्ट सात सितंबर तक पेश करने के आदेश दिए।

हाईकोर्ट के आदेश लेकर मंगलवार को युवती और युवक अपने परिजनों के साथ जानसठ तहसील दिवस में पहुंची। एसएसपी ने महिला थाना पुलिस को युवती का मेडिकल कराए जाने के आदेश दिए थे।

इसके बाद युवती व प्रेमी के परिजन महिला  थाने पहुंचे, जहां से इंस्पेक्टर मीनाक्षी शर्मा एसआई संतोष, सिपाही पूजा चौधरी, प्रियंका गोस्वामी व रिंकी को साथ लेकर उसको गाड़ी से  जिला अस्पताल ले गईं।

जैसे ही महिला थाना पुलिस की जीप जिला अस्पताल पहुंची, वहां पहले से मौजूद युवती के परिजनों ने गाड़ी को रोक लिया और उसको जबरन अपने साथ ले जाने की कोशिश की।

हंगामा होने पर     चालक गाड़ी को तेजी से अंदर लेकर पहुंचा, जहां हमलावरों ने गाड़ी  को घेरकर महिला पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। हमले में कांस्टेबल पूजा चौधरी, प्रियंका गोस्वामी और रिंकी घायल हो गईं।

इसके बाद हमलावर पुलिस जीप से युवती को खींचकर कार में डालकर रुड़की रोड की तरफ फरार हो गए। पुलिस को पीछे देख हमलावर गांव शेरपुर में घुस गए और गाड़ी एक मदरसे के बाहर छोड़कर युवती को साथ ले खेतों में घुस गए।

सूचना पर एसपी सिटी ओमबीर सिंह व सीओ सिटी  फोर्स के साथ पहुंच गए।  खुद को घिरा देख हमलावर युवती को गांव में छोड़कर फरार हो गए, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। हमलावरों द्वारा छोड़ी गई कार भी जब्त कर ली गई, जो संभलहेड़ा के प्रधान की बताई जा रही है।

जिला अस्पताल में युवती को अगवा करने वाले हमलावरों ने डायल-100 बाइक को भी कार से कुचलने की कोशिश की। दरअसल, युवती को उठाकर भागने के तत्काल बाद पुलिस ने हमलावरों व उनकी कार की जानकारी देते हुए वायरलेस पर उनकी घेराबंदी का मेसेज फ्लैश कर दिया।

इसी दौरान मेसेज सुनकर रुड़की चुंगी के पास मौजूद डायल-100 की पीआरवी-4149 बाइक पर मौजूद कांस्टेबल मनोज कुमार व विपुल ने शहर की तरफ से आती तेज रफ्तार कार को रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने उनकी बाइक में भी साइड मारकर उन्हें कुचलने का प्रयास किया। किसी तरह चालक ने बाइक को कार की चपेट में आने से बचाया, जिसमें कांस्टेबल मनोज भी मामूली रूप से घायल हो गया। इसके बाद शेरपुर गांव में भाग रहे हमलावरों ने अपनी गाड़ी से एक बकरे को भी कुचल दिया, जिसकी मौके पर ही मौत हो गई।

यूपी में बदमाशों के हौसले कितने बुलंद हैं, यह इस वीडियों में देखें, पुलिस की गाड़ी से युवती को कैसे किया अगवा

Posted by News24 on Tuesday, September 4, 2018