मोदी का छत्तीसगढ़ दौरा एक मिनट बचाने के लिए काट दिए इतने पेड़

भिलाई में प्रशासन जिस इलाके में पेड़ों की कटाई की योजना बना रहा है वो इलाका पहले से ही बफर जोन एरिया में आता है। यहां कार्बन डाई ऑक्साइड और वोलाटाइल ऑर्गेनिक कंपाउंड की मात्रा पहले से ही मानक स्तर से अधिक रहता है।

इसी महीने की 14 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्तीसगढ़ के भिलाई के दौरे पर जाने वाले हैं। पीएम के दौरे से पहले ऐसी खबरें आ रही है कि यहां प्रशासन करीब 100 पेड़ों की कटाई करने वाला है क्योंकि यह सभी पेड़ प्रधानमंत्री के प्रस्तावित स्थल के दौरे के रास्ते में आ रहे हैं। प्रधानमंत्री रायपुर से हेलिकॉप्टर से भिलाई निवास के सामने मैदान में उतरेंगे और उसके बाद भिलाई इस्पात प्लांट का दौरा करेंगे। चूकि भिलाई निवास के पीछे जिस जगह से फॉरेस्ट एवेन्यु को जोड़ने का फैसला लिया गया है उस मार्ग में शीशम का प्लांटेशन है।

हालांकि पहले यह तय किया गया था कि पीएम सड़क मार्ग के जरिए डीपीएस चौक से फॉरेस्ट एवेन्यु और फिर बीएसपी मेन गेट तक जाएंगे। लेकिन प्रधानमंत्री को सड़क से यात्रा ना करनी पड़े और वो सीधे वायु मार्ग से स्थल तक पहुंच जाए इसलिए भिलाई निवास के पीछे लगे करीब 100 पेड़ों को काटने की तैयारी की जा रही है।भिलाई में प्रशासन जिस इलाके में पेड़ों की कटाई की योजना बना रहा है वो इलाका पहले से ही बफऱ जोन एरिया में आता है। यहां कार्बन डाई ऑक्साइड और वोलाटाइल ऑर्गेनिक कंपाउंड की मात्रा पहले से ही मानक स्तर से अधिक रहता है।

ऐसे में यहां पेड़ों की कटाई से पर्यावरण को नुकसान पहुंचने की आशंका है। पर्यावरण विशेषज्ञों का कहना है कि यहां लगा एक पेड़ करीब 230 लीटर ऑक्सीजन ज्यादा पैदा करता है। लिहाजा पेड़ों की कटाई से करीब 1400 लोग ऑक्सीजन से वंचित हो जाएँगे।पीएम देंगे छत्तीसगढ़ को सौगात: 14 जून को प्रधानमंत्री यहां आईआईटी भिलाई की नींव रखेंगे। पीएम यहां जगदलपुर एयरपोर्ट का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद पीएम भिलाई इस्पात संयत्र जाएंगे। यहां पहुंचकर वह यूनिवर्सल रेल मिल, बीआरएम, एसएमएस-3 और एक्सपांशन प्रोजेक्ट के मिल और फर्नेस राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

ऐसी खबर है कि पीएम नरेंद्र मोदी भिलाई के जयंती स्टेडियम में लोगों को संबोधित भी करेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर यहां सभी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। हालांकि अभी पीएम के आगमन का अधिकृत शिड्यूल जारी नहीं किया गया है।